fbpx

आवाज़ बिग ब्रेकिंग खेल

18 रन से जीता न्यूजीलैंड, भारत विश्व कप से बाहर

मैनचैस्टर के मैदान पर पहले सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड टीम से मिले 240 रन के टारगेट का पीछा करते हुए भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही और टीम ने 49.3 ओवर में ऑल आउट होकर221 रन ही बना पाई औरविश्व कप से बाहर हो गई।

विश्व कप में पांच शतक लगा चुके भारतीय सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा मात्र एक रन बनाकर मैट हैनरी की दूसरे ओवर की तीसरी गेंद पर लैथम को कैच थमा बैठे। बल्लेबाजी करने उतरे कप्तान विराट कोहली से लोगों को उम्मीदें तो थी लेकिन वह भी एक रन पर पवेलियन लौट गए। तीसरे ओवर की चौथी गेंद पर बोल्ट ने उन्हें अपनी गेंद का शिकार बनाते हुए एलबीडब्ल्यू आउट किया। सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल भी मात्र एक रन बनाकर चौथे ओवर की पहली गेंद पर आउट हो गए। वह भी हैनरी गेंद पर लाथम के हाथों कैच आउट हुए। दिनेश कार्तिक 10वें ओवर की आखिरी गेंद पर निशम के हाथों कैच आउट हुए और इस दौरान भी हैनरी गेंदबाजी कर रहे थे। कार्तिक ने 25 गेंदों पर एक चौके की मदद से मात्र 6 रन ही बनाए।

कल यानी मंगलवार को बारिश के कारण मैच प्रभावित हो गया तब न्यूजीलैंड की टीम 46.1 ओवरों में 211 रन ही बना पाई थी। बुधवार सुबह रोस टेलर और टॉम लैथम बल्लेबाजी के लिए उतरे लेकिन पहले गुप्टिल रन आऊट हो गए उसके बाद लैथम भुवनेश्वर की गेंद पर जडेजा को कैच थमा बैठे। मार्टिन गुप्टिल ने 90 गेंदों 74 रन बनाए तो वहीं, लैथम महज 10 ही रन बना पाए। इसके बाद मैट हैनरी भी 1 रन पर चलते बने।आखिरकार न्यूजीलैंड की टीम ने निर्धारित 50 ओवरों में 8 विकेट खोकर 239 रन बना लिए हैं।अब भारत को जीत के लिए 240 रन बनाने होंगे।

बारिश आने से पहले हालांकि भारतीय गेंदबाजों ने समां बांध रखा था। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलिमयसन (95 गेंदों पर 67) ने हेनरी निकोल्स (51 गेंदों पर 28) के साथ दूसरे विकेट के लिए 68 और रोस टेलर (नाबाद 67) के साथ तीसरे विकेट के लिए 65 रन की दो अर्धशतकीय साझेदारियां की लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने सही समय पर विकेट निकाले। जसप्रीत बुमराह (25 रन देकर एक) और भुवनेश्वर कुमार (30 रन देकर एक) ने शुरू से ही कसी हुई गेंदबाजी करके न्यूजीलैंड पर दबाव बनाया। बीच के ओवरों में रविंद्र जडेजा (34 रन देकर एक) ने यह भूमिका बखूबी निभाई। हार्दिक पंड्या (55 रन देकर एक) और युजवेंद्र चहल (63 रन देकर एक) ने भी अच्छी गेंदबाजी की भले ही आखिरी ओवरों में रन देने के कारण उनका गेंदबाजी विश्लेषण आकर्षक नहीं रहा।

मैच न होने पर सीधे फाइनल में पहुंच जाएगा भारत
अंपायरों ने भारी बारिश के कारण आउटफील्ड गीली होने से मैच रिजर्व दिन को पूरा करने का फैसला किया। सेमीफाइनल और फाइनल के लिए रिजर्व दिन रखा गया है लेकिन इसमें मैच नए सिरे से शुरू नहीं होगा। इस तरह से बुधवार को न्यूजीलैंड बाकी बचे 3.5 ओवर खेलेगा और उसके बाद भारतीय पारी शुरू होगी। अगर कल भी बारिश खलल डालती है और न्यूजीलैंड आगे बल्लेबाजी नहीं कर पाता है तो डकवर्थ लुईस पद्वति से भारत को 46 ओवरों में 237 रन बनाने होंगे। यदि केवल 20 ओवर का खेल संभव होता है तो भारत के सामने 148 रन क लक्ष्य होगा। बुधवार को भी मैच पूरा नहीं होने की दशा में भारत लीग चरण में अधिक अंक हासिल करने के कारण फाइनल में पहुंच जाएगा।गेंद शुरू में स्विंग ले रही थी तथा बुमराह और भुवनेश्वर ने बल्लेबाजों पर अच्छी तरह से दबाव बनाया। विराट कोहली टाॅस गंवा बैठे और इसके बाद पहले गेंदबाजी करते हुए उन्होंने पहली गेंद पर अपना रेफरल भी गंवा दिया। मार्टिन गुप्टिल (एक) इसका फायदा नहीं उठा पाए और बुमराह ने चौथे ओवर में उन्हें कोहली के हाथों कैच कराकर स्कोर एक विकेट पर एक रन कर दिया। न्यूजीलैंड पहले पावरप्ले तक वह 27 रन तक ही पहुंच पाया जो इस विश्व कप में पहले दस ओवरों में किसी भी टीम का न्यूनतम स्कोर है। निकोल्स भले ही 18 ओवर से अधिक समय तक क्रीज पर रहे लेकिन इस बीच तेज और स्पिन मिश्रित आक्रमण के सामने उन्हें लगातार संघर्ष करना पड़ा। विलियमसन और निकोल्स जब पारी संवार रहे थे तब जडेजा ने ‘विकेट टु विकेट’ गेंद करके बल्लेबाजों को परेशानी में रखा। बाएं हाथ के इस स्पिनर ने अंदर आती गेंद पर निकोल्स को चकमा देकर उनका मिडिल स्टंप थर्राया और उन्हें लंबी पारी नहीं खेलने दी।पहले 25 ओवरों में स्कोर दो विकेट 83 रन था। इस बीच भारतीय गेंदबाजों ने 150 में से 102 गेंदों पर रन नहीं दिए थे जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि गेंदबाज कितने हावी थे। इस बीच 14वें ओवर के बाद 28वें ओवर में गेंद ने सीमा रेखा के दर्शन किये। बुमराह 32वें ओवर में दूसरे स्पैल के लिये आये। उन्हें आते ही टेलर (तब 22 रन) का विकेट का मिल जाता लेकिन विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने कैच छोड़ दिया। बल्लेबाजों पर हालांकि रन बनाने का दबाव था और ऐसे में विलियमसन ने कदमों का इस्तेमाल किये बिना चहल की गेंद बैकवर्ड प्वाइंट पर खेली लेकिन वह बल्ले का बाहरी किनारा लेकर जडेजा के सुरक्षित हाथों में चली गई।

कीवी कप्तान ने छह चौके लगाए और इस बीच न्यूजीलैंड की तरफ से किसी एक विश्व कप में सर्वाधिक रन (548) बनाने वाले बल्लेबाज बने। उनका स्थान लेने के लिए उतरे जिम्मी नीशाम (12) ने भी हवा में गेंद लहराई। न्यूजीलैंड की पारी का पहला छक्का 44वें ओवर में टेलर ने चहल की गेंद पर लगाया जिससे उन्होंने अपना 50वां वनडे अर्धशतक भी पूरा किया। भुवनेश्वर ने कोलिन डि ग्रैंडहोम (16) को विकेट के पीछे कैच कराकर कीवी टीम को डेथ ओवरों के शुरू में बड़ा झटका दिया। बारिश के कारण जब खेल रोका गया तब टेलर के साथ टॉम लैथम तीन रन पर खेल रहे थे। टेलर ने अब तक अपनी पारी में तीन चौके और एक छक्का लगाया है

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन

slider 2
slider
slider 2
slider

रायपुर सराफा बाजार

मुद्रा बाजार अपडेट

विज्ञापन