fbpx
CG To-day आवाज़ बिग ब्रेकिंग

निजी स्कूलों की पुस्तकें बाजार में नहीं मिल रही

निजी स्कूलों की पुस्तकें बाजार में नहीं मिल रही

जगदलपुर, 10 जुलाई। शहर में चल रही निजी स्कूलों की कार्रवाई से पालक परेशान होकर रह गये हैं और अब निजी स्कूलों की पुस्तकों का अभाव हो गया है। ये पुस्तके शहर की किसी भी पुस्तक दुकान में ढंग से नहीं मिल रही हैं। इस संबंध में निजी स्कूलों में कोई भी नियंत्रण नहीं रखा गया है। जबकि सत्र शुरू होने के पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी ने पुस्तकों सहित री-एडमिशन फीस को लेकर जांच और कार्रवाई की बात कही थी, लेकिन अभी तक निजी स्कूलों पर कोई लगाम नहीं लग सकी है।

शहर की कुछ स्कूलों ने अपने यहां से पुस्तकें बेचना बंद कर पालकों को बाजार से किताबें लेने निर्देश दिया है। बाजार में जब पालक बच्चों के लिए पूरी किताबें लेने निकलते हैं तो वे बाजार में उपलब्ध नहीं हो पा रही हैं। ऐसे में अब पालकों के साथ-साथ बच्चों की परेशानी भी बढ़ गई है। पालक पूरे शहर के स्टेशनरी दुकानों में घूम-घूमकर किताबों के बारे में पता कर रहे हैं, लेकिन कहीं उन्हें किताबें मिल भी रही है तो कुछ स्टेशनरी संचालक उनसे पूरी किताबें लेने पर ही नहीं मिलने वाली किताबें देने की बात कह पालकों को परेशान कर रहे हैं।

इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी एचआर सोम ने बताया कि शिक्षा का अधिकार कानून के तहत अगर कोई स्टेशनरी संचालक किताबें नहीं दे रहा है तो उस पर कार्रवाई की जा सकती है। अगर किताबें उसकी दुकान में उपलब्ध हैं तो उन्हें देना चाहिए। दुकानदार किताब देने में कोई शर्त रखता है तो उसे दंड दिया जाएगा।

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन

रायपुर सराफा बाजार

मुद्रा बाजार अपडेट