Category : कविता

कविता मनोरंजन

हिंदी गीत : कन्या भ्रूण हत्या- प्रणिता राकेश सेठिया

Deepak Sahu
हिंदी गीत : कन्या भ्रूण हत्या ——————————————————- मैं हूँ एक नन्ही कली गुलशन में खिलने दो मुझे मत मारो अब तुम तेरी कोख में पलने
कविता मनोरंजन

महिला दिवस विशेष आलेख : नारी – ✍ प्रणिता राकेश सेठिया

Deepak Sahu
नारी ———————————————- नारी का कवच है उसके आँसू उसका रूठना ,झगड़ना ,उलाहना देना लड़ना और फिर मनाने से मान जाना ।नारी तभी तक निर्बला होती
कविता मनोरंजन

महिला दिवस विशेष कविता : उन्मुक्त गगन में उड़ने दो- ✍ प्रणिता राकेश सेठिया

Deepak Sahu
उन्मुक्त गगन में उड़ने दो…. ————————————————————————- तोड़ दो ये पिंजरे का बंधन उन्मुक्त गगन में उड़ने दो । हम कहलाती है जब चिड़िया हमको पर
कविता मनोरंजन

विशेष आलेख : चुनाव के समय ही साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण क्यों :- चंदन वर्मा

Deepak Sahu
इतिहास गवाह हैं कि जब से जातिगत भेदभाव और जातिगत आरक्षण शुरू हुआ तभी से वोटबैंक के लिए लोगों को जातिगत आधार पर बांटने का
कविता मनोरंजन

हिंदी कविता : पराक्रम_जयहिंद- – अविनाश तिवारी

Deepak Sahu
पराक्रम_जयहिंद ——————————————– लो गरज उठी सेना अब मान देश का बढ़ाया है। आग ठंडी नही चिता की अभी पूरे पाक का सफाया है।। हम कहते
कविता मनोरंजन

हिंदी कविता: …क्यों छोड़ गये – केंवरा यदु मीरा

Deepak Sahu
🌹 …क्यों छोड़ गये🌹 बीच ड़गर में साथी साथ क्यों छोड़ गये । मेंहदी वाले हाथ सजन क्यों छोड़ गये । अभी अभी मैं आई
कविता मनोरंजन

हिंदी कविता: पुलवामा हमले का जवाब — क्रान्ति

Deepak Sahu
पुलवामा हमले का जवाब ————————————————– कस लो कमर ऐ वीर सपूतों आतंकवाद मिटाना है अब दरिंदों को खूब रूलाना है आतंकवाद मिटाना है रक्त से
कविता मनोरंजन

हिंदी कविता : ऐलान – नेहा चाचरा

Deepak Sahu
विषय – ऐलान विधा – मनहरण घनाक्षरी ***************************** बातें यूं बनाना छोड़ो, आंखें भी दिखाना छोड़ो, शूर वीर शेर के समान होना चाहिए। गरज तुम्हारी
कविता मनोरंजन

हिन्दी कविता : सपना – डॉ० ऋचा शर्मा

Deepak Sahu
सपना ———————————————————— मैं सात साल की बच्ची अनाथ। केवल ‘ सपना ‘ ही दे रहा साथ।। हर रात बदल जाते हैं मेरे हालात। माँ-बापू से
कविता मनोरंजन

हिन्दी कविता : सरहद में जवान – – गोपाल कौशल

Deepak Sahu
सरहद पर जवान सरहद पर खड़े जवान हमारी आन-बान-शान । इनकी जांबाजी पर गर्व करता हिन्दुस्तान ।। खड़े रहते सीनातान सरहद पर शेरे जवान ।