fbpx
आवाज़ बिग ब्रेकिंग प्रमुख समाचार

 पश्चिम बंगाल में डॉक्टर पर हुए हमले के खिलाफ रायपुर में डॉक्टरों ने दिया धरना

 डॉक्टर पर हुए हमले के खिलाफ आईएमए ने दिया धरना

रायपुर, 14 जून। पश्चिम बंगाल के नील रतन सरकार मेडिकल कालेज अस्पताल में मरीज की चिकित्सा के दौरान वहां के चिकित्सकों से मरीज के परिजनों द्वारा हिंसात्मक व्यवहार कर मारपीट किये जाने की घटना के विरोध में आईएमए के आह्वान पर आज देश भर के चिकित्सकों ने मेडिकल कालेज परिसरों में धरना प्रदर्शन किया।

 डॉक्टर पर हुए हमले के खिलाफ आईएमए ने दिया धरनाआईएमए एसोसियेशन के अध्यक्ष डॉ. मानिक चटर्जी एवं मेडिकल कालेज टीचर्स एसोसियेशन के संयुक्त तत्वाधान में दिये जा रहे धरने की जानकारी देते हुए बताया कि आईएमए एसोसियेशन चिकित्सक के साथ मरीज के परिजनों द्वारा की गई मारपीट की निंदा करता है एवं सरकार से चिकित्सकों की सुरक्षा व्यवस्था तगड़ी करने की मांग करता है।

ज्ञातव्य है कि पश्चिम बंगाल में डाक्टरों के साथ हुई मारपीट के विरोध में देशभर में डाक्टरों द्वारा प्रदर्शन चल रहा है। राजधानी रायपुर के मेडिकल कालेज व आंबेडकर अस्पताल में भी जूनियर डाक्टर्स सहित पूरे प्रदेश भर में जूनियर्स डॉक्टर्स हड़ताल पर हैं। डाक्टरों ने ओपीडी की सेवा बाधित कर प्रदर्शन किया। हालांकि इस दौरान इमरजेंसी सेवाएं जारी रही।आपातकालीन सेवा के दौरान ड्यूटी में कार्यरत चिकित्सकों ने अपनी शर्ट की बांह में काला फीता बांधकर चल रहे आंदोलन को समर्थन दिया।

 डॉक्टर पर हुए हमले के खिलाफ आईएमए ने दिया धरनागौरतलब है कि शासकीय आंबेडकर अस्पताल में प्रतिदिन सैकड़ों लोग अपना इलाज कराने पहुंचते है। आज डाक्टरों के विरोध प्रदर्शन के दौरान मरीजों को चिकित्सा नहीं हो पाने के कारण परेशान होकर वापस लौटना पड़ा। धरना दे रहे चिकित्सकों ने बताया कि कोलकाता की घटना पहली बार नहीं है, इस तरह की घटनाएं लगातार होती रही है, जिससे डाक्टरों के बीच भय का वातावरण है। डाक्टरों का कहना है कि जब उनके कामों पर भय का साया रहेगा, वो अपनी जिम्मेदारी को नहीं निभा पायेंगे। उन्होंने कहा डाक्टरों की पूर्ण सुरक्षा सरकार को करनी चाहिए। धरने में निजी चिकित्सालय के चिकित्सकों ने भी पहुंचकर धरने को समर्थन दिया।

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन

रायपुर सराफा बाजार

मुद्रा बाजार अपडेट