fbpx

CG अपडेट आवाज़ एक्सपोज़

मानसून सत्र का पहला दिन : दिवंगत नेताओं को दी गई श्रद्धांजलि

रायपुर, 12 जुलाई। छत्तीसगढ़ विधानसभा मानसून सत्र के आज पहले दिन अविभाजित मध्यप्रदेश के सदस्य रहे संतोष अग्रवाल, भीमा मंडावी और छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व सदस्य बलराम सिंह ठाकुर को सदन की ओर से श्रद्धांजलि दी गई।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि संतोष अग्रवाल के निधन से अपूर्णीय क्षति हुई है, वहीं उन्होंने दिवंगत नेता भीमा मंडावी के निधन पर गहरा दुख जताते हुए कहा कि भीमा मंडावी के जाने से न सिर्फ आदिवासी समाज बल्कि प्रदेश के लिए भी अपूर्णीय क्षति है। उन्होंने कहा भीमा मंडावी को दो बार विधानसभा में आने का अवसर मिला। स्वर्गीय श्री मंडावी काफी सहज और मिलनसार नेता रहे हैं। उनके परिवार के प्रति मैं अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व सदस्य बलराम सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए सीएम श्री बघेल ने कहा कि बलराम जी का स्वभाव बेहद सहज और सरल था। हम सभी को वे पुत्रवत स्नेह किया करते थे। उनके जाने से बड़ी क्षति हुई है।

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भी दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि स्व. री अग्रवाल जनसरोकारों के प्रति सजग रहते थे। भीमा मंडावी को श्रद्धांजलि देते श्री कौशिक ने कहा कि मैं सदैव उनकी वीरता का कायल रहा हूं, क्सलवाद के खिलाफ लड़ी जा रही लड़ाई के नायक के रूप में भीमा मंडावी सदैव याद किए जाएंगे। किसानों को लेकर उनका अलग ही लगाव रहा और कई मोर्चों पर उन्होंने लड़ाई लड़ी। भीमा ने विधायक दल के उपनेता, जिलाध्यक्ष समेत कई पदों पर रहकर काम किया है। आज अगर वे जीवित होते तो अपने क्षेत्र के विकास के लिए काम कर रहे होते।

वहीं ठाकुर बलराम सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए बोले उनका सभी के साथ निकट संबंध रहा है। ठाकुर बलराम सिंह जी का जाना बेहद दुखद है। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने मुख्यमंत्री भूपेश की माता बिंदेश्वरी देवी को भी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा- वे एक धार्मिक और सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करने वाली महिला रहीं। आध्यात्म में उनकी गहरी रूचि रही है। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कहा कि सदन के नेता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता के दुखद निधन पर श्रद्धांजलि देता हूं। वे एक आदर्श माता थी मातृत्व का भाव और धर्म में गहरी निष्ठा थीं। परिवार की धुरी बनकर उन्होंने अपने पुत्र और परिवार को इतनी ऊंचाई तक पहुंचाया।

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन

slider 2
slider
slider 2
slider

रायपुर सराफा बाजार

मुद्रा बाजार अपडेट

विज्ञापन