fbpx

राजनीति राजनीती

प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति चिंताजनक : धरमलाल कौशिक

रायपुर : छत्तीसगढ़ विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने छत्तीसगढ़ में दो महिलाओं व एक मासूम की अधजली लाश मिलने और बिलासपुर में युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म के मामलों को लेकर प्रदेश सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया है। कौशिक ने कहा कि प्रदेश में मानो कहीं कानून का राज नहीं रह गया है। यहां आपराधिक तत्व सरेआम हत्या करने और जिंदा जलाने जैसी भयावह घटनाओं को अंजाम देकर नागरिक सुरक्षा के सरकारी दावों की पोल खोल रहे हैं।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने रविवार को सरगुजा संभाग के राजपुर इलाके में एक महिला की अधजली लाश मिलने, फिर अगले ही दिन सोमवार को राजधानी से लगे माना क्षेत्र में एक मासूम समेत महिला की जली लाश मिलने को चिंतनीय बताया है। कौशिक ने कहा कि हैदराबाद और पेरुम्बुदुर आदि में महिलाओं से गैंगरेप और उनकी की जली लाश मिलने की व्यथा से देश गुजर ही रहा है और इसी दरम्यान छत्तीसगढ़ में दो दिनों में तीन जली लाशें मिलने की घटना वीभत्स और हृदयविदारक है। उन्होंने कहा कि इससे पहले शनिवार को बिलासपुर के सरकंडा इलाके में एक युवती के साथ तीन युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। पीड़िता ने अपनी सहेली के साथ जाकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। इन घटनाओं से स्पष्ट है कि छत्तीसगढ़ अब तेजी से अपराधगढ़ बनता जा रहा है और प्रदेश सरकार इन अपराधों पर अंकुश लगाने में नाकारा साबित हो रही है। नागरिक सुरक्षा के मोर्चे पर बुरी तरह विफल प्रदेश की कांग्रेस सरकार और उसके पुलिस प्रशासन के पास इस बात का कोई जवाब नहीं है कि आखिरकार इस तरह की घटनाएं क्यों हो रही है?

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि प्रदेश में जबसे कांग्रेस की सरकार सत्ता पर काबिज हुई है, अपराधों का ग्राफ तेजी से बढ़ता ही गया है। प्रदेश में लूटपाट, बलात्कार, हत्या, मारपीट और गैंगवार के बाद अब इस तरह की वीभत्स आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया जा रहा है। कौशिक ने इन अपराधों पर सख्ती से लगाम लगाने की जरूरत पर बल देते हुए कहा कि रविवार को सरगुजा और सोमवार को माना (रायपुर) में मिली जली लाशों और बिलासपुर के सामूहिक दुष्कर्म के मामलों की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए और अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। श्री कौशिक ने बढ़ते अपराधों के मद्देनजर कानून व्यवस्था और नागरिक सुरक्षा में विफल अफसरों की भी जिम्मेदारी तय कर उन्हें दंडित करने की मांग की है। कौशिक ने कहा कि इससे पहले भी सालभर के भीतर प्रदेश में दर्जनों वीभत्स वारदातों को अंजाम दिया गया है। अनेक स्थानों पर भाजपा ने अपनी टीम भेजकर वहां से तथ्यों के साथ समाचार माध्यमों के द्वारा शासन को अवगत भी कराया लेकिन सरकार की निद्रा भंग नही हुई। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था बहाल रखने के अपने मूल कार्यों को छोड़कर सरकार चैन की बंशी बजा रही है, यह अफसोसनाक है।

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन

ad 3
slider 2
slider
ad 3
slider 2
slider

विज्ञापन

रायपुर सराफा बाजार

विज्ञापन

मुद्रा बाजार अपडेट

विज्ञापन