fbpx

ब्यूटी N हेल्थ

खून की कमी, पीलिया का रामबाण इलाज है ये हरा पत्ता, यौन समस्याओं को भी जड़ से कर देता है खत्म

यह पता अपने आप में ही बहुत सारे औषधीय गुण लिए हुए होता है। जिसका इस्तेमाल कई प्रकार की बीमारियों को जड़ से खत्म करने के लिए किया जाता है। आयुर्वेद में भी इस पत्ते को औषधीय जड़ी बूटी से भरपूर माना गया है। पीपल के पत्ते में एस्टेरॉइड, ग्लूकोस, फेनोलिक, टैनिन, मैनोस, विटामिन के और फैटोस्टेरोलिन जैसे बहुत सारे असरकारक गुण पाए जाते हैं।

यदि आप भी पीलिया, डायबिटीज, अस्थमा, दिल के रोग, सेक्स समस्याएं, खून की कमी या त्वचा से जुड़ी हुई किसी बीमारी से ग्रस्त हैं, तो आपको इन लोगों से राहत पाने के लिए बहुत ही कारगर सिद्ध होते है। पीपल का पत्ता छाल और इसके फल।

दिल की बीमारियों का करें इलाज

जैसा कि सभी सभी जानते हैं, हृदय रोग जानलेवा सिद्ध होते हैं और इनके होने का कोई समय नहीं पता होता। पीपल के पत्तों में से कोमल पत्तों को तोड़ लें व रात को पानी में भिगोकर इन्हें रख दें। इस पानी का दिन में दो से तीन बार सेवन करें। ऐसा कुछ समय निरंतर करने से आपके दिल की कार्य क्षमता बढ़ जाएगी और आपके हृदय रोग में भी निजात मिलेगा। इसके सेवन से हार्ट अटैक जैसी बीमारी से भी बचा जा सकता है।

बढ़ाएं स्पर्म काउंट

पीपल के पत्ते में बहुत से ऐसे औषधीय गुण होते हैं जो कि स्पर्म काउंट बढ़ाने में अच्छी भूमिका निभाते हैं। इसके लिए आप पीपल में लगे फल को अच्छी तरह से सुखा कर पीस लें। अब इसे तवे में हल्का सेक लें और प्रतिदिन दूध में मिलाकर पिए। इसके निरंतर सेवन से आपके शरीर में स्पर्म काउंट बढ़ने लगता है। इसके साथ-साथ पीपल के पेड़ की छाल को पीसकर अच्छी तरह से काढ़ा बना लें और उसका सुबह शाम सेवन करें। इससे भी आपके शरीर में स्पर्म काउंट बढ़ेगा।

मधुमेह से बचाव

यह सभी को पता है कि डायबिटीज या मधुमेह एक बहुत ही खतरनाक बीमारी है। जिसका कोई इलाज नहीं है। इस पर केवल कंट्रोल किया जा सकता है, परंतु जड़ से खत्म नहीं किया जा सकता। पीपल के पत्ते में डायबिटीज को कंट्रोल रखने में सहायक बहुत से गुण होते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह आपके खून में शर्करा की मात्रा को कम करने में मदद करता है। पीपल के पत्ते के साथ हरीतकी फल का पाउडर मिलाकर निरंतर सेवन करने से आपका डायबिटीज कंट्रोल में रहेगा।

दमे के रोग से दिलाए निजात

अस्थमा एक बहुत ही खतरनाक समस्या है। इस रोग में व्यक्ति सांसी लेने में बाधित हो जाता है। यह ऑक्सीजन को आपके फेफड़ों में और आपके शरीर के अन्य अंगों में जाने से रोकता है। आजकल के प्रदूषण को देखते हुए यह समस्या और भी ज्यादा बढ़ती जा रही है। खासकर छोटे बच्चों में यह समस्या देखने को मिलती है। पीपल के पेड़ की पत्तियों के पाउडर को दूध के साथ सेवन करने से अस्थमा की बीमारी का इलाज किया जा सकता है। इसके निरंतर प्रयोग से आपको जल्द ही आराम मिलेगा।

आंतों को बनाए मजबूत

एक्सपर्ट्स की माने तो पीपल के पत्तों में कई तरह के विटामिंस और मिनरल्स पाए जाते हैं। ऐसा कहा जाता है कि पीपल के पत्तों को चबाने से तनाव में भी राहत मिलती है। लोग पीपल के दातुन का प्रयोग भी करते हैं क्योंकि इसके दातुन से दांत सफेद व मजबूत बनते हैं।

इसमें है पीलिया का भी इलाज

पीलिया एक ऐसा रोग है जो कि आपके खून को सुखाता है और इसके इलाज में भी काफी समय लगता है। जब किसी व्यक्ति को पीलिया होता है तो उसे बहुत ही परेशानियों का सामना करना पड़ता है। काफी समय तक उस व्यक्ति को अपनी डाइट में भी खासा ध्यान रखना पड़ता है। जिससे वह बीमारी उसे दोबारा ग्रस्त ना करें। पीपल के कोमल पत्तों का रस निकालकर उसमें मिश्री मिलाकर सेवन करने से पीलिया से जल्दी छुटकारा पाया जा सकता है।

यह बात भी ध्यान में रखें

ऊपर दी गई बातें सारी ही एक्सपर्ट की ही हैं। परंतु किसी भी चीज का अधिक सेवन करने से आपको नुकसान भी पहुंच सकता है। इसलिए बिना डॉक्टर की सलाह के बिना सोचे समझे इसका ज्यादा प्रयोग ना करें।

Add Comment

Click here to post a comment

विज्ञापन

slider 2
slider
slider 2
slider

रायपुर सराफा बाजार

मुद्रा बाजार अपडेट

विज्ञापन